बच्चों के वजन को बढ़ाने के कुछ असरदार तरीक़े

Sharing is caring!

आजकल के बच्चो को खाना खिलाना सभी माताओं के लिए एक बहुत बड़ा टास्क है। बच्चे खाना खाने में और वो भी हेल्दी खाना खाने में बहुत नखरे करते हैं। ये अलग बात है कि जब आप उन्हे जंक फ़ूड देंगे तो वो बहुत मजे से खा लेते है। जिस से कई बार बच्चो का वजन कम रहता है, क्योंकि वे खाने में रुचि नहीं रखते हैं और कई बार तो अगर उनके पसंद का भोजन न हो तो भूखे भी रहते हैं । सभी माताओं के लिए ये बहुत बड़ी जिम्मेदारी है कि वे अपने बच्चो को सही मात्रा में सभी पोषक तत्वों से भरपूर खाना खिलाएं । इसीलिए में आपके लिए कुछ खास टिप्स ले कर आई हूं, जिन्हे मैंने आजमाया है।

पौष्टिक भोजन (Healthy Food)

सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे के भोजन में पोषण से भरपूर आहार शामिल हैं जो आवश्यक विटामिन, खनिज और कैलोरी प्रदान करते हैं। आहार में फैट, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स शामिल करें। उदाहरण के लिए, एवोकाडो, नट, बटर, पूरे दूध के उत्पाद, पूरे अनाज, केला और आम जैसे फलों को शामिल करे।

थोड़े थोड़े अंतराल पर भोजन

दिन में छोटे-छोटे भोजन और थोड़े थोड़े अंतराल पर भोजन प्रदान करें ताकि आपका बच्चा नियमित रूप से पोषण और ऊर्जा प्राप्त कर सकें। यह आपके बच्चो को नियमित रूप से पर्याप्त पोषण और ऊर्जा मिल रही है यह सुनिश्चित कर सकता है। उदाहरण के लिए, भोजन के बीच दही के साथ फल, पनीर और क्रैकर्स, स्मूथीज़, या पीनट बटर को पूरे अनाज के टोस्ट पर उपलब्ध कराएं।

अच्छी वसा (Good Fat)

अपने बच्चे (Toddler) के आहार में अच्छी वसा को शामिल करें, क्योंकि यह कैलोरी-घनत्वपूर्ण होती है और विकास के लिए महत्वपूर्ण होती है। जैसे कि जैतून का तेल, नारियल का तेल, एवोकाडो, अखरोट और बीज शामिल करें। आप पकी हुई सब्जियों में जैतून के तेल की बूँदे डाल सकते हैं या स्मूथीज़ में एवोकाडो को मिला सकते हैं। इस तरह से आप बच्चों के खाने में फैट को शामिल कर सकते हैं।

भोजन के समय सिर्फ़ भोजन

भोजन के समय अवरोधों (Obstacles) को कम करने के लिए एक शांत और सुखद वातावरण बनाएं जिस से आपका  बच्चा खाना खाने पर केंद्रित हो सके। कोशिश करें कि आप बच्चो को खाना खाते समय स्क्रीन टाइम न दे, और उन्हे अपने हाथों से खाना खाने के लिए कहें। मैं जानती हूँ कि आज के समय में ये एक बहुत मुश्किल काम है, लेकिन इसके लिए आपको भी स्क्रीन्स जैसे की फोन से दूरी बनानी होगी, तभी आप उन्हें भी इस बात को समझा पाएंगी। भोजन के दौरान परिवार के साथ बैठने को प्रोत्साहित करें ताकि स्वस्थ खाने की आदत और सामाजिक बातचीत को सहारा मिल सके।

भोजन में क्रिएटिविटी लायें

बच्चे एक ही जैसे भोजन से बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं।माताओं को भोजन में थोड़ी सी क्रिएटिविटी को शामिल करना चाहिए जैसे आप अलग अलग शेप्स के परांठे या फिर कटलेट्स बना सकते हैं। अलग अलग कलर्स जैसे पालक, अवाकडो से हरा रंग, आलू से सफेद, चुकंदर से रेड, इस तरह अलग अलग फल और सब्जियों से अलग अलग कलर्स का भोजन में इस्तेमाल करके आप बच्चो को खाने के लिए आकर्षित कर सकती हैं। जब बच्चे ख़ुशी से खाना खाते हैं तो ये उनके वजन को बढ़ाने में काफ़ी असरदार साबित होता है।

स्वास्थ्य सलाहकार से संपर्क करें

यदि आप अपने बच्चे के वजन बढ़ने या पोषण संबंधी सेवन के बारे में चिंतित हैं, तो बाल रोग विशेषज्ञ या पंजीकृत आहार विशेषज्ञ से परामर्श लें। वे आपके बच्चे के विकास का आकलन कर सकते हैं और उनकी उम्र, वजन और आहार संबंधी आवश्यकताओं के आधार पर सुझाव प्रदान कर सकते हैं। वे स्वस्थ वजन बढ़ाने में सहायता के लिए विशिष्ट रणनीतियों या आहार अनुपूरकों का भी सुझाव दे सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion)

वजन बढ़ाने की इन सभी बातों का पालन करके और नियमित भोजन और नाश्ते के साथ संतुलित, पोषक तत्वों से भरपूर आहार देकर, आप अपने बच्चे को स्वस्थ और टिकाऊ तरीके से वजन बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। यहाँ वजन बढ़ाने का मतलब बच्चे को मोटा करने से नहीं है बल्कि बच्चे का वजन ना कम हो और ना ही ज़्यादा हो। सही उम्र में बच्चे का वजन भी अगर सही हो तो वो बच्चा देखने में भी अछा लगता है और वह स्वस्थ भी होता है।

Leave a comment